WAYS TO DETERMINE THE PLANET STRENGTHS

Within the Hindu Astrology, there are nine planets majorly being considered  that affects the terrestrial phenomenon. These nine planets are Sun, Moon, Mars, Mercury, Venus, Saturn, Jupiter, Rahu and Ketu. The strength of planets has been defined on the basis of evaluating the planets individually or based on conjunction being defined over planets in horoscope.  […]

ASHTAKAVARGA IS AN INTERESTING AND SIGNIFICANT CONCEPT IN ASTROLOGY

Understanding ‘Ashtakavarga’ Ashtakavarga is defined as an interesting and unique concept within the Vedic Astrology. It is the process of dividing every moon sign into eight subcategories based on the ascendant or other importance planets associated with the positioning of twelve moon signs. Ashtakavarga is considered as hardest and confusing methods within the sector of […]

ज्योतिष में अनफा योग क्या है ?

अनफा योग क्या है ?  ज्योतिष विज्ञान के योगों में अनफा योग का विशेष महत्व है । जब चंद्रमा से बारहवें भाव में कोई ग्रह स्थित होता है  तब अनफा योग का संयोग बनता है । अनफा योग का किसी व्यक्ति के जीवन को प्रभावित करने में महत्वपूर्ण योगदान होता है । यह योग तभी […]

ग्रहों की शक्ति से होने वाला चमत्कार !

ज्योतिष आस्था और विश्वास से जुड़ा हुआ विज्ञान है । इसके माध्यम से कोई भी व्यक्ति अपने जीवन में घटने वाली शुभ या अशुभ घटनाओं के विषय में जानकारी ले सकता है व अशुभ घटनाओं से बचने का समुचित रास्ता भी निकाल सकता है। यह भविष्य की परिस्थितियों के अध्ययन का विज्ञान है । व्यक्ति […]

2022 में शादी करने के लिए ये हैं सबसे शुभ तिथियां

1 जनवरी के आते ही नया साल प्रारंभ हो चुका है । नए साल के साथ बहुत सारे सपने ,बहुत सारी उम्मीदें भी हमारे साथ चल पड़ी है । हर बार की तरह हम सबने इस साल के लिए भी बहुत सारे संकल्प लिए होंगे,कई योजनाएं बनाई होंगी जिन्हें हर हाल में हम इस साल […]

Jupiter- Saturn Conjunction: The rarest conjunction

For thousands of years, a meeting between Jupiter and Saturn has been considered a special event the only planetary meeting called a Great Conjunction. It’s a rare type of celestial conjunction between any of the five bright planets that only happens once every two decades or so. Great conjunctions occur approximately every 20 years when […]

What does it mean when Pluto is on the Midheaven?

Pluto on the Midheaven The position of Pluto on the Midheaven – Transit at a person’s birth indicates that this individual could shape their professional life in powerful ways. They may transform the work environment for the better and especially for themselves, as well as for others who they come into contact with in any […]

कुंडली में केतु का प्रभाव

केतु अंतर्दृष्टि का कारक ग्रह है, केतु के पास सिर्फ धड़ है, केतु के पास आंख, नाक, कान कुछ नही है, लेकिन केतु के पास मन की आंखे है | केतु आंख खोलकर नही आंखे बंद करके वह सब देख सकता है जो बहार की आँखों से नही दिखाई देता है | भविष्य वक्ता होने के […]

Scroll to top